जरा याद करले उनको ...................जो लौट कर घर न आये

जरा याद करले उनको ...................जो लौट कर घर न आये

ख़ुशनसीब है वो जो वतन पर मिट जाते हैं
मर कर भी वो लोग अमर हो जातें है।
करता हूँ उन्हे सलाम ऐ वतन पर मिटने वालो
तुम्हारी हर सांस में तिरंगे का नसीब बसता है।

प्रधानमंत्री किसान पेंशन योजना में पंजीकरण प्रारम्भ, जानें पूरा विवरण

किसान मानधन योजना,किसान पेंशन योजना

मोदी सरकार ने किसानों के लिए मानधन योजना यानी पेंशन स्कीम (Pradhan mantri Kisan Mandhan Yojana) शुरू कर दी है. इसके लिए आज शनिवार को रजिस्ट्रेशन का दूसरा दिन है. आप इसके लिए अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) पर जाकर अपना नाम दर्ज करवा सकते हैं. केंद्रीय कृषि मंत्रालय (Ministry of Agriculture) के संयुक्त सचिव राजबीर सिंह ने न्यूज18 हिंदी को बताया है कि रजिस्ट्रेशन के लिए कोई फीस नहीं लगेगी. यदि कोई किसान पीएम-किसान सम्मान निधि (Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Scheme) का लाभ ले रहा है तो उससे इसके लिए कोई दस्तावेज नहीं लिया जाएगा.

खेती के लिए हर किसान को मिलेंगे 25-25 हजार रुपये

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना शुक्रवार को देश भर में शुरू हो गई है. इसके बाद बीजेपी शासित राज्य झारखंड (Jharkhand) आज शनिवार को किसानों के लिए सबसे बड़ी स्कीम शुरू करने जा रहा है. यहां अब पांच एकड़ तक की खेती वाले हर किसान को सालाना 25 हजार रुपये मिलेंगे. यह रकम पीएम-किसान सम्मान निधि स्कीम (PM-kisan Samman Nidhi Scheme) से अलग होगी. इसके तहत पहले से ही 6000 रुपये मिल रहे हैं. उसे जोड़कर 31 हजार रुपये की सरकारी सहायता सीधे हर किसान (Farmer) के बैंक अकाउंट में आएगी. किसानों को इतनी बड़ी नगद सहायता अभी तक कोई नहीं दे रहा.

15 अगस्त से किसानों के लिए पेंशन योजना की शुरुआत

15 अगस्त से किसानों के लिए पेंशन योजना की शुरुआत

15 अगस्त की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी किसान पेंशन स्कीम की शुरुआत करेंगे। कृषि सचिव ने राज्यों को चिट्ठी लिखकर स्कीम लागू करने के लिए मैकेनिज्म तैयार करने का निर्देश दिया है। इस योजना के तहत एलआईसी किसानों के पेंशन फंड को मैनेज करेगा। इस पेंशन स्कीम के तहत किसानों को 60 साल होने के बाद 3000 रुपये बतौर पेंशन देने का प्रा‌वधान किया गया है।

अनियमित बारिश से खरीफ खेती प्रभावित, किसान परेशान, इस माह अच्छी बारिश होने का अनुमान

अनियमित बारिश से खरीफ खेती प्रभावित

मानसून पूरे देश पर छा गया है, लेकिन कहीं भारी तो कहीं हल्की बारिश हो रही है। देश का कुछ हिस्सा अभी भी सूखे जैसी स्थिति से जूझ रहा है। इसके चलते खरीफ सीजन की फसलों की बोवाई प्रभावित हुई है, जिससे खेती की रफ्तार पिछले साल के मुकाबले पीछे चल रही है। भारतीय मौसम विभाग के वैज्ञानिकों ने अगस्त माह में अच्छी बारिश का पूर्वानुमान लगाया है।